22-Aug-2019

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

आयोग के नवनिर्मित कोर्टरूम एवं कार्यालय कक्षों का लोकार्पण

Previous
Next

मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग कार्यालय में आज सुबह नवनिर्मित कोर्टरूम एवं कार्यालय कक्षों का लोकार्पण किया गया। आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति श्री नरेन्द्र कुमार जैन, सदस्यद्वय श्री मनोहर ममतानी तथा श्री सरबजीत सिंह ने फीता काटकर कोर्टरूम व कार्यालय कक्षों को लोकार्पित किया। इसके पहले विधि विधान से श्री गणेश एवं वास्तु पूजन तथा हवन कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। तत्पश्चात वैदिक मंत्रोच्चार के बीच इन नवनिर्मित कक्षों का विधिवत् लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर आयोग के सचिव श्री शोभित जैन, आयोग में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्रीमती सुषमा सिंह, रजिस्ट्रार (लाॅ) श्री जे.पी. राव, उप सचिव श्री एस.एस. चौहान, पुलिस अधीक्षक श्री सीताराम ससत्या, उप संचालक (जनसम्पर्क) श्री घनश्याम सिरसाम, अनुभाग अधिकारी श्री डी.एल. पालीवाल सहित अन्य सभी अधिकारीगण एवं कर्मचारीगण मौजूद थे।   

मानव अधिकार आयोग ने तीन मामलों में लिया संज्ञान

मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के माननीय अध्यक्ष न्यायमूर्ति श्री नरेन्द्र कुमार जैन ने मानव अधिकार हनन से जुडे तीन मामलों में संज्ञान लेकर संबंधितों से प्रतिवेदन मांगा है।

पुलिस पिटाई से व्यक्ति की मौत, परिजनों ने आरक्षक पर लगाया मारपीट का आरोप

मंदसौर शहर के कोतवाली थाना क्षेत्र में 11 जुलाई को नरसिंहपुरा निवासी दो भाईयों नंदकिशोर और संजय में मकान निर्माण के दौरान मटेरियल रखने की बात को लेकर झगडा हुआ। जिसके बाद संजय सकवाया ने कोतवाली में इसकी शिकायत की। परिजन शरद सकवाया ने बताया कि आरक्षक राहुल परमार घर पहुंचा और नंदकिशोर के साथ जमकर मारपीट कर दी। गहरी चोट लगने के कारण उन्हें अस्पताल ले गए। 25 जुलाई को अहमदाबाद में शाह अस्पताल में उपचार के दौरान नंदकिशोर ने दम तोड दिया। जिसके बाद परिजनों ने दाह संस्कार के बाद थाने कोतवाली पहुंचे और जमकर हंगामा किया व आरक्षक पर कार्यवाही करने की मांग की। इस मामले में आयोग ने पुलिस महानिदेशक, मध्यप्रदेश एवं पुलिस अधीक्षक मन्दसौर से तीन सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है।

साहब ! जेल में पिटाई होती है, नहीं देते पेटभर खाना

श्योपुर जिला जेल में बंद विचाराधीन कैदियों ने बीते रविवार को स्थानीय विधायक बाबू जंडेल के जेल निरीक्षण के दौरान कहा कि यहां उनके साथ मारपीट की जाती है। विधायक जिला कलेक्टर से जेल के निरीक्षण की इजाजत लेकर बीते रविवार को अचानक जेल पहुंच गए। पूछताछ के दौरान विचाराधीन बंदियों ने उन्हें बताया कि जेल में मीनू के अनुसार भोजन नहीं दिया जा रहा। दाल के नाम पर गरम पानी परोसा जा रहा है। मिलने के लिये परिजनों को जेल संतरी को भेंट पूजा चढानी पडती है। इस मामले में आयोग ने पुलिस महानिदेशक, जेल विभाग, मध्यप्रदेश शासन एवं जेल अधीक्षक, जिला जेल श्योपुर से दो सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है।

विचाराधीन बंदी की तबीयत बिगड़ी, मौत

भोपाल शहर के केन्द्रीय जेल में विचाराधीन बंदी की मौत हो गई। गांधीनगर पुलिस के अनुसार रातीबड़ पुलिस ने चार माह पहले नकली नोट छापने के आरोप में सद्द्ाम पुत्र चिराल को गिरफ्तार किया था, तभी से वह जेल में बंद था। 21 जुलाई को तबीयत खराब होने  पर सद्द्ाम को हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस मामले में आयोग ने पुलिस महानिदेशक, जेल विभाग, मध्यप्रदेश शासन एवं अन्य संबंधितों से प्रतिवेदन मांगा है।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0