16-Oct-2019

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

हनी ट्रेप मामले में बड़ी कार्रवाई, कई बड़े खुलासों का हाे रहा इंतजार, फिलहाल पूछताछ जारी

Previous
Next
▪ हनीट्रेप के मामले मे इंदौर पुलिस की बडी कार्यवाही, पांच महिला व एक पुरुष सहित कुल 06 आरेापी गिरफ्तार
▪ अधिकारी को कर रही थी ब्लैकमल
▪ वीडियों क्लिप/फोटो वायरल करने की दी थी धमकी
▪ आरोपीगणों के कब्जे से लैप्टाप, मोाबईल व नगदी कुल 14 लाख 17 हजार रुपये सहित क्रेटा कार बरामद

भोपाल, 19 सितम्बर : इन्दौर नगर निगम के एक अधिकारी की शिकायत पर मध्यप्रदेश पुलिस ने मोहपाश (हनीट्रैप) के आरोप में दो युवतियों को इन्दौर से गिरफ्तार किया है और भोपाल से तीन युवतियों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की जा रही है। इन्दौर :ईस्ट: के पुलिस अधीक्षक मोहम्मद यूसुफ कुरैशी ने बृहस्पतिवार को फोन पर पीटीआई को बताया कि इन्दौर नगर निगम के एक अधीक्षक यंत्री ने मंगलवार को शिकायत की थी कि लड़कियों ने उनको मोहपाश में बांधा और ब्लैकमेल किया। पुलिस ने गुरूवार रात्रि में इस पर विस्‍तार से जानकारी दी हैं।

इधर, हिरासत में ली गयी युवतियों में से एक बरखा नामक युवती कांग्रेस नेता की पत्‍नी है। इस युवती के पति को अमित सोनी को कांग्रेस ने जून माह में ही उसके द्वारा धारित पदों से हटा दिया था। इसकी जानकारी मामले के सामने आने के बाद कांग्रेस के एक प्रवक्‍ता ने वाट्सएप ग्रुप पर दी है। जी ए डी मंत्री गोविंद सिंह ने मीडिया से चर्चा में हनी ट्रेप मामले में बी जे पी से जुड़ी महिला नेत्री के होने की बात कही है। साथ ही एक सवाल पर उन्‍होंने कहा है कि अगर कांग्रेस से जुड़े किसी का इस मामले से संबंध हुआ तो उस पर भी कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। गोविंद सिंह ने बीजेपी से नाता रखने वाली मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी का समर्थन करते हुए कहा है कि यह जासूसी जैसी गतिविधियों में शामिल रहना बीजेपी की संस्कृति है। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस से जुड़ा कोई इस मामले में शामिल पाया जाता है तो वह उसे हर संभव कड़ी से कड़ी सजा दिलाए जाने की व्यवस्था करेंगे। गृह मंत्री बाला बच्‍चन ने इस मामले में संलिप्‍त सभी पर सख्‍त कार्रवाई का भरौसा दिलाया है। गृह मंत्री का कहना है कि इस मामले में शामिल लोगों के बारे में आज शाम तक पता चल जाएगा, लेकिन किसी को छोड़ा नहीं जाएगा। वहीं जनसंपर्क मंत्री पी सी शर्मा ने इस मामले में पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों को बधाई दी हैं।

पुलिस ने दो युवतियों को इस मामले में इन्दौर में गिरफ्तार किया है। फिर इसके बाद एटीएस ने बुधवार रात को भोपाल की पॉश कालोनियों से तीन युवतियों को इस मामले में हिरासत में लेकर इन्दौर पुलिस के सुपुर्द किया है। इन्दौर पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है। उन्होंने बताया कि इस मामले में कुल छह लोगों को पकड़ा गया है। इनमें पांच लड़कियां और उनका एक वाहन चालक है। एसपी ने बताया कि पुलिस हिरासत में लिये गये लोगों से विस्तृत पूछताछ कर रही है। फिलहाल उन्होंने इस मामले में अधिक जानकारी देने से इंकार किया।

बता दें कि इंदौर के पलासिया थाने में एफआईआर दर्ज हुई थी, जिसके बाद इंदौर पुलिस की निशानदेही पर ही एटीएस और भोपाल पुलिस ने धरपकड़ की। लड़कियों से गोविंदपुरा थाने में कई घंटों तक पूछताछ भी की गई। सूत्रों के मुताबिक इंदौर नगर निगम के एक अधिकारी को युवतियों ने फंसाया और ब्लैकमेल कर 2 करोड़ रुपये मांग रही थी। आरोप है कि ये इंदौर में फोन पर लगातार धमकी दे रही थी। सूत्रों ने बताया कि ये युवतियां भोपाल में कुछ नेताओं और अधिकारियों को अपना शिकार भी बना चुकी हैं। युवतियों को प्रदेश के एक पूर्व मंत्री के हाईप्रोफाइल सोसायटी में बने बंगले से गिरफ्तार किया गया। इंदौर के नगर निगम इंजीनियर ने पलासिया थाने में शिकायत की थी कि उन्हें भोपाल की श्वेता जैन नाम की महिला ब्लैकमेल कर रही है और साथ ही 2 करोड़ रुपये की मांग कर रही है। मामले में पुलिस ने क्राइम ब्रांच और एटीएस की टीम से संपर्क किया और श्वेता जैन की तलाश शुरू की, जिसके बाद भोपाल के रिवेरा टाउन में श्वेता जैन की लोकेशन मिली। जांच के दौरान टीम को दूसरी श्वेता जैन और बरखा के इनपुट मिले। भोपाल पुलिस ने प्लान बनाकर एक साथ तीनों युवतियों को गिरफ्तार किया। रात करीब 8 बजे पुलिस ने तीनों युवतियों के ठिकानों पर दबिश दी। पुलिस ने सबसे पहले रिवेरा टाउन से श्वेता जैन को गिरफ्तार किया। तीनों युवतियों को भोपाल पुलिस अशोका गार्डन थाने लेकर आई, जहां थोड़ी देर पूछताछ के बाद पुलिस गोविंदपुरा थाने रवाना हो गई।

भोपाल पुलिस ने रात में करीब 3 घंटे तक पूछताछ की। देर रात करीब 12.40 बजे एटीएस की टीम इंदौर से भोपाल पहुंची। एटीएस की टीम ने दोनों श्वेता जैन और बरखा से सवाल किए। पूछताछ के बाद एटीएस की टीम रात करीब 3:40 पर इंदौर रवाना हो गई और दोनों श्वेता जैन और बरखा को भी साथ ले गई। टीम सुबह करीब 5:50 पर इंदौर के महिला थाने पहुंची, जहां 6 बजे से इन्वेस्टिगेशन टीम ने फिर पूछताछ की। तीनों युवतियों ने 2 और लड़कियों के नाम बताए, जिसके बाद पुलिस ने इंदौर से करीब 6:45 पर सीमा और आरती को गिरफ्तार किया है। आरती के पास से पुलिस ने एक लग्जरी कार भी बरामद की है। फिलाहाल पांचों युवतियों को इंदौर के महिला थाने में रखा गया है। जहां ज्वॉइंट टीम इनसे पूछताछ कर रही है।

बताया जा रहा है कि पूछताछ के दौरान इंदौर भोपाल और एटीएस पुलिस को युवतियों के मोबाइल से कई वीडियो मिले हैं। वीडियो की जांच की जा रही है। वीडियो को देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है कि गिरोह के लोग हाई प्रोफाइल लोगों को ब्लैकमेल कर चुकी हैं। जानकारी के मुताबिक भोपाल पुलिस ने रिवेयरा टाउन से एक महिला को हिरासत में लिया है। यह महिला यहां एक मंत्री के बंगले में किराए से रहती है। महिला की गतिविधियों पर इंटेलीजेंस की टीम भी नजर रखे हुई थी। साथ ही एटीएस भी अपने स्तर पर साक्ष्य इकट्ठा कर रही थी। महिला के खिलाफ कुछ दिन पहले इंदौर के एक थाने में ब्लैकमेल करने की एफआईआर दर्ज की गई थी। बता दे, कुछ महीने पहले एक सीनियर आईएएस अफसर को ब्लैकमेल किया गया था। इस बाबत एक वीडियो भी वायरल हुआ था। बताया जा रहा है कि कई और आईएएस, आईपीएस अफसर और नेता हनी ट्रैप रैकेट का शिकार हो चुके हैं। पुलिस कार्रवाई में इसका ख़ुलासा हो सकता है। सीनियर आईएएस अफसर के हनी ट्रैप का खुलासा होने के बाद इंटेलिजेंस पुलिस लगातार इस मामले की जांच कर रही थी। मुख्य आरोपी जुलाई में मध्य प्रदेश सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव के हाल में आए सेक्स सीडी कांड में शामिल था। कांड के सामने आने और उसके वायरल होने के बाद अतिरिक्त सचिव को अवकाश पर जाने को मजबूर किया गया था।

इधर, आज तक की खबर के मुताबिक एसएसपी (इंदौर) रुचि वर्धन के अनुसार एक क्रेटा कार से 14.17 लाख रुपये बरामद किए गए हैं। इंदौर नगर निगम के इंजीनियर हरभजन सिंह ने शिकायत दर्ज कराई थी कि भोपाल में रहने वाली आरती दयाल नाम की एक लड़की और उसकी सहयोगी मोनिका यादव उसे ब्लैकमेल कर रही थीं और उससे 3 करोड़ की मांग कर रही थीं। दो लोग बुधवार को इंदौर आए और क्रेटा कार से 50 लाख की पहली किस्त ली। बाद में वे पकड़े गए।

पुलिस के अनुसार, ओम प्रकाश कोरी नाम का ड्राइवर जो उनका साथी था वो भी पकड़ा गया। तीनों आरोपियों से पूछताछ के आधार पर भोपाल की मिनाल रेजिडेंसी से श्वेता जैन के अलावा भोपाल की ही रिवेरा टाउनशिप से दूसरी श्वेता जैन को गिरफ्तार किया गया। भोपाल के कोटरा सुल्तानाबाद से बरखा सोनी को गिरफ्तार किया गया। ब्लैकमेल करने के मामले में अब तक 6 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

अंतिम समय में कटा था टिकट

सूत्र बताते हैं कि हनी ट्रैप मामले में सत्तारुढ़ कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के नेता शामिल बताए जा रहे हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार मुख्य आरोपी का प्रभात झा के बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष रहने के दौरान पार्टी में खूब आना-जाना था और वह उनकी करीबी सहयोगी थी।

सूत्रों के अनुसार, बीजेपी एक समय आरोपी महिला को सागर मेयर पद के लिए टिकट देने पर विचार कर रही थी, लेकिन चुनाव से पहले उसका एमएमएस लीक हो जाने के कारण अंतिम समय में टिकट काट दिया गया. जबकि दूसरे आरोपी का कांग्रेस आईटी सेल से नाता रहा है।

पुलिस द्वारा प्रेस कांफ्रेंस में दी गयी जानकारी

इंदौर पुलिस ने  जानकारी दी है कि 19 सितंबर 2019- घटना का विवरण इस प्रकार है कि दिनांक 17/09/2019 को फरियादी द्वारा लिखित शिकायती आवेदन पत्र, थाना पलासिया में प्रस्तुत किया गया था जिसमें फरियादी ने आरोप लेख किया था कि उसको निजी व्हाट्सऐप नंबर पर,  आरती दयाल व्दारा उसके एवं उसके अन्य परिचितों के मोबाईल नंबर से वाट्सएप पर कॉल एवं मैसेज किये जा रहे हैं जिनके द्वारा फरियादी को यह कहते हुये बलैकमेल किया जा रहा था कि उसके पास फरियादी के वीडियो क्लिप हैं जिसके एवज में आरेापिया आरती दयाल वायरल करने की धमकी देते हुये 03 करोड़ रुपयों की मांग कर रही थी। पैसे ना देने की स्थिति में फरियादी को आरोपिया विडियो क्लिप वायरल करने की धमकी देते हुये ब्लैकमेल कर रही थी। उपरोक्त शिकायत की जांच पर से थाना पलासिया में महिला आरती दयाल एवं अन्य के विरुध्द अपराध क्रमाँक  405/19 धारा 419, 420, 384, 506, 120-बी एवं 34 भादवि के तहत अपराध पंजीबध्द कर विवेचना मे लिया गया था।
       उक्त प्रकरण में आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम ने जाल बिछाया तथा आरोपिया आरती दयाल तीन करोड़ रूपये की पहली किस्त 50 लाख रूपये लेने के लिये होंडा क्रेटा कार क्रमांक डच् 16  ब्ठ 4441 से इंदौर आई जिसे कार सहित पुलिस टीम ने आरोपीगणों (1) आरती दयाल पति पंकज दयाल उम्र 29 साल निवासी सागर लेंडमार्क मिनाल रेसीडेन्सी भोपाल (2) मोनिका यादव पिता लाल यादव उम्र 18 साल निवासी ग्राम सवस्या तहसील नरसिंहगढ जिला राजगढ़ (3) ओमप्रकाश कोरी पिता रामहर्ष कोरी उम्र 45 साल निवासी आदमपुर छावनी थाना बिलखिरिया भोपाल को पकडा जाकर पुलिस अभिरक्षा मे लिया गया। जिनसे की गई प्रारंभिक पूछताछ में  आरोपिया आरती दयाल ने बताया कि वह विगत एक साल से मिनाल रेसीडेनसी भोपाल मे रहती है तथा एनजीओ का काम करती है। वह बीएससी तक पढी है

आरोपिया आरती ने खुलासा किया कि उसकी साथी श्वेता जैन निवासी मिनाल रेसीडेन्सी ने उसे करीब 8 माह पहले नगर निगम इंदौर के अधिकारी से मिलवाया था जिनकी मुलाकात के बाद उन दोनों में परस्पर फोन पर बातचीत शुरु हो गई तथा आरेापिया आरती दयाल ने अधिकारी को मुलाकात के लिये जोर दिया। मुलाकात के लिये जब आरेापिया आरती अपनी संगिनी मोनिका के साथ नगर निगम अधिकारी से मिलने के लिये इंदौर पहुंची तो मुलाकात के दौरान ही उन्होंनें छुपके एक  वीडियों क्लिप बना ली तथा वापस भोपाल   पहुंचने के बाद फरियादी से 03 करोड़ रूपयों की मांग की अन्यथा वीडियो वायरल करने की धमकी देकर छवि धूमिल करने की बात कही।

आरोपिया की सहेली मोनिका यादव ने पूछताछ में बताया कि वह बीएससी की पढ़ाई भोपाल से कर रही है तथा विगत 01 साल से आरती को जानती है। इस प्रकरण में आरेापिया मोनिका, आरती दयाल के साथ उस समय भी इंदौर आई थी जब उन्होंनें छुपकर नगर निगम अधिकारी का वीडियों बना लिया था। आरोपी ओमप्रकाश कोरी पिता रामहर्ष कोरी उम्र 45 साल निवासी आदमपुर छावनी थाना बिलखिरिया भोपाल ने पूछताछ में बताया कि  वह आरती को विगत 1 साल से जानता है तथा उसकी क्रेटा कार चलाता है। उक्त मामले क्रेटा क्रमाँक  डच् 16  ब्ठ 4441 को जप्त किया गया है।

आरोपी आरती दयाल के बताये अनुसार, उसकी महिला साथी (4) श्वेता जैन पति विजय जैन उम्र 39 साल निवासी जे 394 मिनाल रेसीडेंसी भोपाल की भी इसमें संलिपत्ता पाई गई । जिसके चलते महिला आरोपीया श्वेता जैन पति विजय जैन को पुलिस अभिरक्षा मे लेकर पूछताछ की गई। आरेापिया महिला श्वेता जैन के कब्जे से कुल 14,17000/- (चौदह लाख  सत्तरह हजार रू) रुपये नगद व मोबाईल फोन बरामद हुयेे हैं। इसी तरह के काम मे लिप्त आरोपियाओं की अन्य साथीदारान युवतियां (5) श्वेता जैन पति स्वपनिल जैन उम्र 48 साल निवासी रेवेरा टाउनि भोपाल एवं (6) बरखा सोनी पति अमित सोनी उम्र 34 साल निवासी कोटरा सुल्तानाबाद को गिफ्तार किया गया है। आरोपीगणों ने पूर्व में अन्य किन लोगाें के साथ इस प्रकार की वारदातें कर ब्लैकमेल किया है इस संबंध में पुलिस रिमाण्ड लिया जाकर, विस्तृत पूछताछ की जायेगी। जप्त सामग्री को एफएसएल जांच हेतु भेजा जावेगा।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0