16-Oct-2019

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

मैंने लोगों की समस्याएं जानीं, तो मुझ पर ही आरोप लगाने लगे कांग्रेसी- शिवराजसिंह चौहान

Previous
Next

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा-भले ही मैं सीएम नहीं, लेकिन मेरा दिल पीड़ितों के साथ

मंदसौर। मैं मंदसौर में बाढ़ और अति वर्षा से पीड़ित हुए लोगों के बीच हूं। मैंने जब लोगों के बीच पहुँचकर उनका सहयोग करना शुरू किया, उनसे संवाद कर उनकी तकलीफें जानना शुरू किया, तो कांग्रेस के मित्रों ने मुझ पर तरह- तरह के आरोप लगाना शुरू कर दिये। कांग्रेस के लोगों ने मुझे ही गालियां देना शुरू कर दिया। मैं फिर भी यही कहता हूं, यह समय ‘मैं और तू’ करने का नहीं है, बल्कि लोगों के सहयोग के लिए साथ खड़े होने का है । यह बात पूर्व मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के उपाध्यक्ष श्री शिवराजसिंह चौहान ने मंदसौर में मीडिया से चर्चा करते हुए कही।

पीड़ितों के साथ खड़े होने का समय

चौहान ने कहा कि मैं पूरे प्रदेश से भी अपील करता हूं कि संकट की इस घड़ी में मंदसौर और नीमच के भाई-बहनों के साथ खड़े हों और उन्हें राहत सामग्री पहुंचाएं। लोगों की सहायता के लिए मैंने, क्षेत्रीय सांसद,  विधायकों ने एक माह की सैलरी देने का निर्णय किया है। रतलाम, उज्जैन से हमारे विधायकों, साथियों,  कार्यकर्ताओं ने ट्रक भरकर राहत सामग्री भेजी है। भोपाल और इंदौर से भी राहत सामग्री आ रही है। श्री चौहान ने कहा कि बाढ़ राहत के लिए मैंने मुख्यमंत्री से बात की, कमिश्नर- कलेक्टर से चर्चा करके उन्हें स्थिति से अवगत कराया है। मैं फिर सरकार से अपील कर रहा हूं कि मंदसौर और नीमच में जल्द से जल्द लोगों के लिए राहत पहुंचाएं । उन्होंने कहा कि भले ही मैं मुख्यमंत्री नहीं हूं,  लेकिन मेरा लोगों से दिल का रिश्ता है और इस संकट के समय में मैं उनके साथ खड़ा हूं।

गांधी सागर बांध में इतना पानी भरा कैसे ?

चौहान ने कहा कि गांधी सागर बांध में इतना पानी जमा कैसे हो गया, सरकार को इस पर श्वेत पत्र लाना चाहिए। उन्होंने कहा कि डैम से पानी निकालने का समय निर्धारित होता है। किस माह तक कितना पानी रहेगा और कितना निकालना है, यह तय रहता है। फिर गांधी सागर बांध का पानी फुल लेवल तक कैसे पहुंच गया ? उन्होंने सवाल किया कि जुलाई, अगस्त माह में डैम से पानी क्यों नहीं निकाला गया? बांध के गेट एक साथ क्यों खोले गए। मौसम विभाग चेतावनी देता रहा, लेकिन मुख्यमंत्री और प्रशासन कुंभकरण की नींद सो रहे थे। उन्होंने कहा कि यह शताब्दी की सबसे बड़ी त्रासदी है और इस लापरवाही के लिए जो भी जिम्मेदार है, उस पर कार्यवाही होनी चाहिए।

इससे भयंकर मंजर नहीं देखा

पूर्व मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुझे लोग अपने घर ले लेकर जा रहे हैं । एक-एक घर दिखा रहे हैं। यह देखकर आत्मा दुखती है कि प्रशासन कहीं नहीं दिख रहा है। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी जिंदगी में इससे भयंकर मंजर नहीं देखा है। नींव सहित घर बह गए हैं। अनाज सड़ गया है, बर्तन-भांडे,  गाय-भैंस सब बह गए। राशन कार्ड, आधार कार्ड घर का सारा सामान बर्बाद हो गया है। देवरान में 70 ट्रैक्टर अनाज सहित बह गए। मंदसौर में व्यापारियों की दुकानों के अंदर तक घुस गया, पूरा माल खराब हो गया। श्री चौहान ने कहा कि मुख्य सचिव पत्रकारवार्ता में कह रहे है कि सब ठीक है,  कोई समस्या नहीं है। यदि सब ठीक है तो रामपुरा कैसे बह गया ? वहां की रिंग वाल कैसे टूट गई ? रामपुरा के लोग कह रहे हैं कि एकदम से पानी आया , किसी ने कोई सूचना नहीं दी।

जनता के बीच जाकर सहायता करें मंत्री

चौहान ने कहा कि सरकार के मंत्री मुझे गाली देने की जगह जनता के बीच जाएं और उन्हें तत्काल सहायता पहुंचाएं। मैं प्रशासन से आग्रह करता हूं कि सबसे पहले बाढ़ पीड़ितों को 25 हज़ार रुपये, 50 किलो अनाज और  5 लीटर केरोसीन का तेल दें ताकि कम से कम उनका चूल्हा जल सके, वे रोटी खा सकें। जिनके मकान तबाह हो गए हैं उन्हें नए मकान बना कर दें और 6- 8 महीने के लिए अस्थाई शेड बना कर दें । गांवों में अनेक लोगों को बड़े-बड़े बिजली के बिल आए हैं और कुर्की का नोटिस भी मिला है। मैं प्रशासन से अपील करता हूं कि बाढ़ के बाद ये लोग बिजली के बिल देने में असमर्थ हैं, इसलिए बिल माफ किए जाएं और नोटिस जल्द वापस लिए जाएं । बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित की जाए।

अब तो कर्जा माफ कर दो

चौहान ने कहा कि किसान पूरी तरह बर्बाद हो चुका है, 100 प्रतिशत नुकसान हुआ है। मैं सरकार से मांग करता हूं कि 40000 रुपए प्रति हेक्टेयर की दर से किसानों को मुआवजा दे। गेहूं और चने की बुवाई के लिए सरकार इन्हें जीरो प्रतिशत पर कर्ज दे। मुख्यमंत्री से अपील है कि मंदसौर की धरती पर आप ही ने वचन दिया था कि किसानों का कर्ज 10 दिनों में माफ कर देंगे। अब तो उनका कर्जा माफ कर दो।

21 तक राहत नहीं दी, तो धरना-प्रदर्शन करेंगे

चौहान ने कहा कि मैं आज मुख्यमंत्री जी को कलेक्टर के माध्यम से ज्ञापन दे रहा हूं। सरकार से प्रार्थना है कि लोगों की मदद करना शुरू करे। अगर आप पर्याप्त राहत की व्यवस्था नहीं करते हैं तो 21 सितंबर को हम वापस आएंगे । हम मंदसौर-नीमच में शांतिपूर्ण धरना-प्रदर्शन करेंगे । हमारा यह आंदोलन अहिंसक होगा,  हम राहत की मांग के लिए सरकार पर दबाव बनाएंगे। चौहान ने कहा कि मुझे विश्वास है कि सरकार तत्परता के साथ काम करेगी जिससे आंदोलन करने की नौबत ही नहीं आएगी।

निराधार आरोप लगाने के बजाए, काम करे कमलनाथ सरकारः राकेश सिंह

कांग्रेस आरोप लगाने की प्रवृत्ति से न जाने कब बाहर निकलेगी। उसे यह समझने की आवश्यकता है कि प्रदेश में जब उनकी सरकार है तो शिवराज जी या कोई अन्य नेता कैसे केन्द्र से मिलने वाली राशि रोक सकता है। कमलनाथ सरकार जो सड़कों के गढ्ढे तक नहीं भर पा रही है, वह अपनी कमजोरियों को छिपाने के लिए अनर्गल आरोप लगा रही है। जनता की आवाज से सत्ता पक्ष को अवगत कराना विपक्ष का काम है। काम करने के बजाए यह सरकार बे-सिर पैर के आरोप लगा रही है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री राकेश सिंह ने मंगलवार को श्योपुर में जिला बैठक में कही।

प्रदेश में गूंगी बहरी सरकार

राकेश सिंह ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार एक ऐसी गूंगी बहरी सरकार है जिसको जनता के हितों से कोई लेना देना नहीं है। पूरे प्रदेश में अतिवृष्टि से जनता और किसान परेशान है, लेकिन कहीं भी सरकार और प्रशासन की मौजूदगी नहीं दिखाई देती है। सरकार का एक भी नुमाइंदा ऐसा नहीं है जिसने बाढ पीडितों के बीच पहुंचकर उन्हें संबल देने का काम किया है। बाढ में जिन लोगों के मकान टूटे है पूरा सामान डूब गया है, उनको सहारा देने के लिए कहीं भी सरकार खडी हुई दिखाई नहीं देती है। यह केवल अपने विधायक एवं मंत्रियों की ही सुध लेने वाली सरकार है जो आर्थिक हितों को साधकर इस सरकार को चलाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि किसानों का हमदर्द बनकर सत्ता में आयी कांग्रेस का जनता के दुख दर्द से कोई लेना देना नहीं है। इसलिए भारतीय जनता पार्टी ने तय किया है कि 20 सितंबर को विधानसभा स्तर पर आंदोलन करेगी। जिसमें प्रत्येक कार्यकर्ताओं की भागीदारी सुनिश्चित हो।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0