16-Oct-2019

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

नीमच के रामपुरा में बाढ़ से 200 से ज्यादा घर-दुकानें जलमग्न

Previous
Next

मध्यप्रदेश के मालवा-निमाड़ में बारिश और बाढ़ से हालात खराब

नीमच। जिले के रामपुरा में चंबल नदी में आई बाढ़ से 200 से ज्यादा घर और दुकानें जलमग्न हो गई। देर रात रेस्क्यू कर बड़ी संख्या में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। बताया जा रहा है कि पानी में पुराना बस स्टैंड और नया बस स्टैंड, इब्राहिमपुरा, लालबाग शहीद अन्य क्षेत्रों में एक मंजिल पानी भर गया है। यहां सभी इलाकों में 10 से 12 फीट पानी भरा हुआ है। मध्यप्रदेश के मालवा-निमाड़ इलाके में बारिश और बाढ़ से हालात खराब होते जा रहे हैं। आगर जिले के सोयत में बाढ़ के बाद स्थिति बिगड़ गई है। प्रशासन ने यहां सर्वे चालू नहीं किया है। जिले के नलखेड़ा में 24 घंटे में 5 इंच से ज्यादा बारिश दर्ज की गई है। रविवार सुबह से ही यहां बारिश जारी है।



मनासा में सरपंच प्रतिनिधि की ग्रामीणों ने की पिटाई

शनिवार को मनासा के महागढ़ में बवंडर आने से ग्रामीणों के मकानों को काफी नुकसान हुआ था। उसके बाद मौके पर प्रशासन भी नहीं पहुंचा उसके अलावा सरपंच प्रतिनिधि नहीं पहुंचा। इससे ग्रामीणों में काफी आक्रोश था। रविवार सुबह जब सरपंच प्रतिनिधि योवन प्रसाद चौधरी ग्रामीणों के बीच पहुंचे तो ग्रामीणों ने उनकी पिटाई कर दी जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

रामपुरा में रात करीब एक बजे तक सभी घरों में पानी भर गया था, लोग डकर घर की छतों या दूसरी मंजिल पर पहुंच गए थे। इस दौरान धीर-धीरे पानी बढ़ता रहा और लालबाग परिसर तक आ गया। प्रशासन भी अलर्ट हो गया और सभी घरों में पहुंचकर लोगों को बाहर निकाला गया।

बताया जा रहा है कि चंबल नदी के मछुआरों ने लोगों को रेस्क्यू करने में बड़ी मदद की, वे अपनी नावें लेकर आ गए और जगह-जगह पहुंचकर लोगों को बाढ़ से बाहर निकाला। बताया जा रहा है कि करीब एक हजार लोगों को रेस्क्यू कर बाहर निकाला गया है। इस दौरान शहर के सभी लोग एक-दूसरे की मदद करने में लगे हैं।

गांधी सागर बांध की पेनस्टॉक गैलरी के ऊपर बह रहा पानी

मंदसौर में चंबल नदी पर स्थित गांधी सागर बांध में पूरे 19 गेट खुलने के बाद भी पेनस्टॉक गैलरी के ऊपर से पानी बह रहा है। गांधी सागर में बांध पर स्थित पानी से बिजली बनाने वाले पावर स्टेशन में बांध के ओवर फ्लो होने से पानी घुस गया है। कर्मचारियों को रेस्क्यू कर बाहर निकाला गया है। बांध की पुलिया की रेलिंग क्षतिग्रस्त हो गई है। गांधी सागर बांध की पूर्ण भराव क्षमता 1316 फीट से ज्यादा है और यहां 1318.76 फ़ीट पर पानी बह रहा है।

गांधीसागर बांध खतरे के निशान से ऊपर है। लोगों में दहशत का माहौल है। 50 से ज्यादा गांवो में पानी घुस आया है। कई गांव खाली कराएं गए हैं। कई गांव में लोग फंसे हुए हैं। अब हवाई मदद की भी जरूरत लग रही है। बांध में पानी की आवक 8 लाख क्यूसेक है और यहां से निकल रहा 5 लाख क्यूसेक है। बचा पानी गांवों में घुस रहा है। जिले के सैकड़ों गांवों में बिजली बंद है।

मोरटक्का पुल से शुरू हुई वाहनों की आवाजाही

खंडवा के मोरटक्का पुल पर से रविवार दोपहर 12 बजे बाद वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई। छोटे वाहनों के बाद कि अब बड़े वाहनों को यहां से निकाला जाएगा। सात दिनों से खंडवा से इंदौर के बीच सीधी बस सेवा बंद थी।

साभार- नईदुनिया

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0