25-May-2019

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

पैसा वसूल मैच: 700 से ज्‍यादा रन, दो शतक और 19 छक्‍के, टीम इंडिया की करारी हार

Previous
Next

मोहाली वनडे में 359 रन का विशाल लक्ष्‍य लेकर उतरी कंगारू टीम ने जीत हासिल कर हर किसी को चौंका दिया है. जबकि इन दिनों यह टीम स्‍टीवन स्मिथ, डेविड वॉर्नर और मिचेल स्‍टार्क के बिना मैदान में है. भारत के खिलाफ चौथे वनडे में छह विकेट की ऐतिहासिक जीत के साथ एरॉन फिंच की ऑस्‍ट्रेलियाई टीम ने पांच मैचों की सीरीज में 2-2 की बराबरी कर ली है. जबकि सीरीज का पांचवां और अंतिम मैच 13 मार्च को दिल्‍ली में खेला जाएगा.

बहरहाल,जवाबी हमला करने उतरी कंगारू टीम की पारी को एरॉन फिंच और उस्‍मान ख्‍वाजा ने शुरू किया, लेकिन पिछले में मैच में 93 रन की शानदार पारी खेलने वाले फिंच (0) इस बार भुवनेश्‍वर कुमार का शिकार हो गए. इसके बाद ख्‍वाजा का साथ देने आए शॉन मार्श (6) को जसप्रीत बुमराह ने बोल्‍ड कर पवेलियन लौटा दिया. 12 रन पर दो विकेट गंवाने के बाद ख्‍वाजा ने पीटर हैंड्सकॉम्‍ब के साथ मिलकर ना सिर्फ पारी को संभाला बल्कि 29.4 तक भारतीय गेंदबाजों को विकेट के लिए तरसा दिया. यह मैच में पहला मौका था जब लगा कि कंगारू टीम जीत हासिल कर सकती है. दोनों के बीच 192 रन की साझेदारी हुई और इस जोड़ी को जसप्रीत बुमराह ने ख्‍वाजा (91) को कुलदीप के हाथों कैच करवाकर तोड़ा. उन्‍होंने 99 गेंदों का सामना करते हुए सात चौके की मदद से ये पारी खेली.

इसके बाद पीटर हैंड्सकॉम्‍ब और ग्‍लेन मैक्‍सवेल के बीच चौथे विकेट के लिए हुई 25 रन की साझेदारी हुई. जब मैक्‍सवेल (23) खतरा साबित होने लगे तो 'विराट सेना' पेरशान दिखाई दे रही थी और फिर कुलदीप यादव ने उन्‍हें एलबीडब्‍ल्‍यू कर बड़ी राहत दिलाई. खासकर कोहली ने ऐसे जश्‍न मनाया जैसे मैच जीत लिया हो.

मैक्‍सवेल के आउट होने के बाद पीटर हैंड्सकॉम्‍ब ने ना सिर्फ अपना पहला वनडे शतक जड़ा बल्कि एश्‍टन टर्नर के साथ मिलकर कंगारू टीम को मैच जीतने का भरोसा दिया. हैंड्सकॉम्‍ब 105 गेंदों पर 8 चौके और तीन छक्‍के की मदद से 117 रन बनाकर आउट हुए. उन्‍हें चहल ने केएल राहुल के हाथों कैच कराया. हैंड्सकॉम्‍ब जब आउट हुए तब टीम का स्‍कोर 271 रन था. जबकि उसे जीत के लिए 53 गेंदों में 88 रन बनाने थे. हालांकि एक बारगी लगा कि टीम इंडिया जीत हासिल कर सकती है, लेकिन एश्टन टर्नर (नाबाद 84) की तूफानी पारी के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने चार विकेट बाजी मार ली. इस जीत के साथ ही ऑस्ट्रेलिया ने पांच मैचों की सीरीज में 2-2 से बराबरी कर ली है. वहीं टर्नर को मैच का हीरो चुना गया.

भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह ने तीन विकेट लिए. जबकि भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव तथा युजवेंद्र चहल ने एक-एक विकेट लिया.

इस मैच में दोनों टीमों की तरफ से 717 रन बने. भारत ने 358/9 के स्‍कोर में 32 चौके और 9 छक्‍के लगाए तो कंगारू टीम (359/6) ने 25 चौके और दस छक्‍के उड़ाए.

भारत ने दी थी 359 रन की चुनौती
मोहाली में कप्‍तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी करने का फैसला किया था, ताकि कंगारू टीम पर बड़ा स्‍कोर बनाकर दबाव बनाया जा सके. जबकि रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 193 रन जोड़कर कप्‍तान के फैसले को सही साबित किया. इस जोड़ी को ऑस्‍ट्रेलिया के तेज गेंदबाज़ जे रिचर्डसन ने रोहित (95) को आउट कर तोड़ा. टीम इंडिया के उप कप्तान 92 गेंदों पर सात चौके और दो छक्‍के की मदद से दमदार पारी खेलने के बावजूद अपने 23वें वनडे शतक से चूक गए.

हालांकि इसके बाद भी शिखर धवन का तूफान जारी रहा और उन्‍होंने 97 गेंदों पर 12 चौकों और एक छक्‍के की मदद से 16वां वनडे शतक जड़कर अपनी वापसी का जोरदार तरीके से ऐलान किया. धवन ने आक्रामक रवैया बनाये रखा और अपना पिछला सर्वोच्च स्कोर (137 रन बनाम दक्षिण अफ्रीका, मेलबर्न, 2015) पीछे छोड़ा. जबकि उन्होंने कमिंस पर बड़ा शॉट लगाने के प्रयास में अपना विकेट गंवाया. आखिरकार वह अपने वनडे करियर की सर्वोच्‍च पारी (143 रन, गेंद-115, चौके-18 और छक्‍के-3) खेलकर आउट हुए. धवन ने इससे पहले सितंबर 2018 में पाकिस्तान के खिलाफ एशिया कप में शतक जड़ा था.

सच कहा जाए तो इन दोनों (रोहित और धवन) ने ऑस्ट्रेलियाई आक्रमण की धज्जियां उड़ाने में कसर नहीं छोड़ी. हालांकि बाद में भारतीय टीम के विकेट गिरने का सिलसिला जारी रहा, लेकिन वह निर्धारित ओवरों में नौ विकेट पर 358 रन का विशाल स्कोर खड़ा करने में सफल रही. रोहित और धवन के अलावा केएल राहुल और विजय शंकर ने 26-26 रन बनाए तो धोनी की जगह टीम में शामिल होने वाले रिषभ पंत ने 24 गेंदों पर चार चौके और एक छक्‍के की सहायता से 36 रन बनाकर अच्‍छा दम दिखाया.

ऑस्‍ट्रेलिया के लिए पैट कमिंस ने दस ओवर में 70 रन देकर पांच विकेट और जे रिचर्डसन ने नौ ओवर में 85 रन देकर तीन विकेट अपने नाम किए. जबकि एक सफलत एडम जाम्‍पा के नाम रही.

साभार- न्‍यूज 18

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0