23-Jul-2019

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

जन-समस्याओं के निराकरण और योजनाओं के सुव्यवस्थित संचालन के लिये जिलों में प्रभारी सचिव व्यवस्था लागू

Previous
Next

प्रभारी सचिवों को न्यूनतम 2 माह में एक बार जिले का भ्रमण करने के निर्देश
मुख्य सचिव मोहंती द्वारा विस्तृत निर्देश जारी

भोपाल : बुधवार, जून 26, 2019, प्रदेश में जन-समस्याओं के निराकरण एवं शासन की योजनाओं सुव्यवस्थित संचालन के लिये जिलों में प्रभारी सचिव व्यवस्था लागू करने का निर्णय लिया है। मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती ने अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिव एवं सक्षम अधिकारियों को निर्देश जारी किये हैं कि प्रभार वाले जिले का कम से कम 2 माह में एक बार अवश्य भ्रमण करें। उन्होंने कहा है कि भ्रमण के दौरान आम जनता को प्रभावित करने वाले विषयों पर सर्वाधिक ध्यान दिया जाये तथा जन-समस्याओं का निराकरण पहली प्राथमिकता होना चाहिये।

मुख्य सचिव श्री मोहंती ने कहा है कि जिले में भ्रमण के दौरान शासन की उच्च प्राथमिकता वाली योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा करें। उन्होंने बताया कि ये प्रमुख योजनाएँ किसान ऋण माफी, रबी/खरीफ फसलों का उपार्जन एवं किसानों को राशि भुगतान, नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल, विद्युत और खाद-बीज की उपलब्धता तथा वितरण, वनाधिकार पट्टों का वितरण, तेन्दूपत्ता एवं अन्य वनोपज का संग्रहण एवं भुगतान, स्कूल शिक्षा का प्रबंधन तथा रिक्त/भरे पदों की स्थिति और साइकिल वितरण, गरीबों के लिये आवास निर्माण की प्रगति, जिलों में चल रही विशिष्ट बड़ी परियोजनाओं की समीक्षा, आँगनवाड़ी कार्यक्रम का क्रियान्वयन तथा पोषण-आहार वितरण, सार्वजनिक वितरण प्रणाली में राशन की उपलब्धता और वितरण, सामाजिक सुरक्षा पेंशन तथा मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना का क्रियान्वयन, ग्रामीण क्षेत्रों में औषधियों की उपलब्धता, चिकित्सकों की उपस्थिति, चिकित्सालयों का समुचित प्रबंधन और स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा, जिले में सड़कों, लोक सेवा प्रबंधन में लंबित शिकायतों के निराकरण, मनरेगा, गौ-शाला निर्माण की समीक्षा, खनिज नीति/खुले में शौचमुक्त योजना/जिला सरकार योजना का क्रियान्वयन तथा जिले की स्थानीय आवश्यकताओं संबंधी योजनाओं का क्रियान्वयन है। मुख्य सचिव ने कहा कि जिले में विभिन्न विभागों के समन्वय से संचालित योजनाओं की समीक्षा करते समय आवंटित राशि के अनुकूलतम उपयोग की समीक्षा करें।

मुख्य सचिव श्री मोहंती ने कहा है कि जिले के प्रभारी सचिव द्वारा प्राकृतिक एवं अन्य आपदाओं के समय किये जा रहे बचाव एवं राहत कार्यों की सावधानीपूर्वक समीक्षा की जाये। आकस्मिक घटनाओं एवं संवेदनशील परिस्थितियाँ निर्मित होने पर प्रभारी सचिव जिले के सतत सम्पर्क में रहें तथा आवश्यकता होने पर तत्काल जिले का भ्रमण करें। उन्होंने स्पष्ट किया कि प्रभारी सचिव भ्रमण के दौरान यथासंभव यह प्रयास करें कि जन-समस्याओं का निराकरण मौके पर ही सुनिश्चित हो सके। यदि किसी विषय पर शासन स्तर से मार्गदर्शन अथवा निराकरण की आवश्यकता महसूस हो, तो संबंधित वरिष्ठ अधिकारी को पत्र के माध्यम से अवगत करायें। साथ ही, यह भी कोशिश करें कि चर्चा द्वारा शिकायतों और समस्याओं का शीघ्र निराकरण संभव हो। मुख्य सचिव ने कहा कि जिले के भ्रमण के समय पिछले भ्रमण के दौरान की गई कार्यवाहियों की समीक्षा अवश्य करें। श्री मोहंती ने जिलों में नियुक्त किये गये समस्त प्रभारी सचिवों से कहा है कि भ्रमण के पश्चात योजनाओं के क्रियान्वयन, मुख्य समस्याओं और उनके निराकरण के लिये किये गये प्रयासों आदि की जानकारी उन्हें अवश्य प्रेषित करें।



Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0