03-Jun-2020

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

सरकार और संगठन कोरोना से योद्धा की तरह लड रहे हैं, यह जंग हम जरूर जीतेंगे

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने संगठन को दी सरकारी प्रयासों की विस्तृत जानकारी

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने आज ऑडियो ब्रिज के माध्यम से भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णुदत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत सहित प्रदेश भर के सांसद, पार्टी के विधायक, संगठन मंत्रीगण, जिलाध्यक्ष आदि को कोरोना की महामारी से निपटने की दिशा में सरकार द्वारा किए गए उपायों की विस्तार से जानकारी दी और आवष्यक सुझाव भी मांगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से मध्यप्रदेश को बचाने के लिए कोई कमी नहीं छोडी जायेगी। इस पर प्रदेश अध्यक्ष ने सभी को यह बताया कि मुख्यमंत्री जी जिस प्रकार की संवेदनाओं और तत्परता के साथ परिश्रम कर रहे है वह अत्यंत सराहनीय है। सरकार और संगठन के समन्वित प्रयासों से मध्यप्रदेश में काफी हद तक हम कोरोना को नियंत्रित करने में सफल हुए है। मुख्यमंत्री ने कहा कि संकट बहुत बडा है। सारी दुनिया में तेजी से संक्रमितों की संख्या बढी है। सौभाग्य से केन्द्र में श्री नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री हैं, जिनके आव्हान पर 130 करोड भारतवासी खडे हो गए है। उन्होंने यह चेतावनी भी दी कि इस महामारी के दौरान जो लोग व्यवस्था को तोड़ने का या अन्य प्रकार की गडबडियां करेगा उसे बख्शा नहीं जायेगा। 
श्री चौहान ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में हमारे जनप्रतिनिधि, कार्यकर्ता और पदाधिकारी अपनी जान संकट में डालकर मैदान में डटे हुए हैं। आप हमारे योद्धा हैं, मैदान में डटे रहें। सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की निगरानी करें और प्रशासन के संपर्क में रहें। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि हम ये जंग लड़ेंगे और जरूर जीतेंगे। 
कोरोना से जंग लड़ रहे सभी योद्धाओं को धन्यवाद
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि संकट बड़ा है। देश-प्रदेश में संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। लेकिन सौभाग्य से हमारा नेतृत्व प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी कर रहे हैं, जिनके एक आह्वान पर पूरा देश खड़ा हो जाता है। उनके नेतृत्व में हम इसे नियंत्रित रखने में सफल रहे हैं। श्री चौहान ने कहा कि पिछली सरकार ने इस संकट से मुकाबले के लिए कोई व्यवस्था नहीं की थी। इसलिए शपथ लेते ही हमने सिस्टम बनाने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि स्थिति सुधर रही थी, लेकिन तब्लीगी जमात वालों ने इसे और तेजी से फैला दिया। अब कोरोना के जो नए मामले आ रहे हैं, उनमें से अधिकांश से कहीं न कहीं तब्लीगी जमात का संबंध होता है। श्री चौहान ने कहा कि कोरोना से मुकाबले के लिए हमारे डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी, पुलिसकर्मी, सफाईकर्मी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, समाजसेवी, पार्टी कार्यकर्ता जैसे योद्धा डटे हुए हैं। महामारी से जंग के दौरान कई अफसर, स्वास्थ्यकर्मी और पुलिसकर्मी स्वयं भी संक्रमित हो गए हैं, लेकिन उनका उत्साह कम नहीं हुआ। मैं इन सभी योद्धाओं को धन्यवाद देता हूं।  
लोगों को समझाएं, छिपें नहीं- इलाज कराएं
श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के 18 जिले कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने इंदौर,  भोपाल और उज्जैन शहरों को पूरी तरह सील करने का निर्णय लिया है और पूरी कड़ाई के साथ इस निर्णय पर अमल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अब किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाने पर उसका अंतिम संस्कार उसी शहर में करना होगा, क्योंकि मृत शरीरों से भी कई जगह परेशानी पैदा हुई है। श्री चौहान ने कहा कि हम कोरोना संक्रमित शहरों में हॉट स्पॉट की पहचान कर रहे हैं और उन्हें पूरी तरह सील किया जाएगा। श्री चौहान ने कहा कि सरकार ने अब तय कर लिया है कि कानून तोड़ने वालों, प्रशासन से असहयोग करने वालों, कालाबाजारी करने वालों, खुद को छिपाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे, किसी को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि मैं कार्यकर्ताओं बंधुओं से आग्रह करता हूं कि वे स्वयं भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और स्वयं भोजन के पैकेट बांटने की बजाय प्रशासन के माध्यम से इन्हें बंटवाएं। श्री चौहान ने कहा कि आप छिपने वालों को समझाएं कि छिपें नहीं, डॉक्टर को अपनी समस्या बताएं और उपचार कराएं। श्री चौहान ने कोरोना से संबंधित किसी भी प्रकार की सूचना और समस्या बताने के लिए दो वाट्सअप नंबर जारी किए है जो इस प्रकार है-7987039054 और 862634772। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री निवास के नंबर 0755-2545678 पर भी अपनी बात नोट करायी जा सकती है। उन्होंने विधायकों से दो साल तक 30 प्रतिषत कम वेतन लेने के विचार पर भी सुझाव मांगा है। 
गरीबों की चिंता सर्वोपरि
श्री चौहान ने कहा कि जो परिस्थितियां हैं, उन्हें देखते हुए लॉकडाउन पूरी तरह खत्म होने की आशा नहीं है। हालांकि में केंद्र सरकार के संपर्क में हूं और जो तय होगा, उसका पालन करेंगे। लॉकडाउन के चलते बेरोजगार हुए मजदूरों, गरीबों की चिंता हमारे लिए सर्वोपरि है। हमने तय किया है कि इस कठिन समय में किसी को भूखा नहीं रहने देंगे। इसलिए हमारी सरकार प्रदेश के 5.40 करोड़ लोगों को तीन महीने का राशन दे चुंकी है। अप्रैल माह के अंत में एक बार फिर प्रति व्यक्ति 10 किलो चावल और एक किलो दाल दी जाएगी। जिन लोगों के पास राशन कार्ड नहीं है, उन रिक्शा चालकों, हाथठेला चालकों, निर्माण श्रमिकों, विकलांगों, बीड़ी मजदूरों, वन अधिकार पट्टा धारकों समेत 25 श्रेणियों के अंत्योदय परिवारों को भी पांच किलो गेंहूं, प्रतिव्यक्ति दिया जाएगा। कोई भूखा न रहे, इसके लिए प्रत्येक जिले में 2000 क्विंटल गेंहूं की व्यवस्था की गई है। श्री चौहान ने कहा कि सरकार ने कर्मकार मंडल में पंजीकृत श्रमिकों, सामाजिक सुरक्षा हितग्राहियों और बैगा, सहरिया, भारिया समुदायों के लोगों के खातों में सहायता राशि जमा करा दी है। प्रत्येक जिलों में राहत शिविरों के लिए दो करोड़ रुपये की व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि इस संकट के समय में कोई भूखा न रहे, यही हमारी चिंता है और इसमें आप सब का सहयोग जरूरी है।
किसान भाई निश्चिंत रहें, हमें उनकी फिक्र है
श्री चौहान ने कहा कि संकट के इस समय में हम अपने किसान भाइयों को ऐसे ही नहीं छोड़ सकते। केंद्र सरकार उनकी चिंता कर रही है और हम भी उनके लिए चिंतित हैं। हमने कटाई के समय में हार्वेस्टर, थ्रेसर आदि कृषि उपकरणों को लॉकडाउन से छूट दी है। विद्युत वितरण कंपनी को निर्देश दिये हैं कि बिना पैसा जमा कराए, खराब ट्रांसफार्मर बदले जाएं, हिसाब बाद में करेंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण समर्थन मूल्य पर खरीदी की तारीख आगे बढ़ाना पड़ी लेकिन 15 अप्रैल तक इसे शुरू करने के पूरे प्रयास किए जा रहे हैं और खरीदी केंद्र भी बढ़ाए जाएंगे। श्री चौहान ने कहा कि खरीदी केंद्रों पर भीड़ न लगे इसके लिए किसान भाई यह ध्यान रखें कि जिसके पास एसएमएस आए, वही किसान खरीदी केंद्र पर जाए। श्री चौहान ने कहा कि इस मुसीबत के समय कुछ विघ्नसंतोषी लोग किसानों के मन में गलतफहमी पैदा कर सकते हैं, इसलिए आप किसानों को आश्वस्त करें कि सरकार को उनकी फिक्र है। पुरानी सरकार ने धान नहीं खरीदे थे वह भी पडे हुए है। लेकिन हम किसी किसान को निराश नहीं होने देंगे। उन्होंने विधायक, सांसदों आदि से कहा कि वे लोगों को इस बात के लिए प्रेरित करें कि स्थानीय स्तर पर जो मजदूर उपलब्ध है उन्हें खरीदी केन्द्र की ट्रेनिंग देकर काम में लगाया जाए। उन्हांने यह भी कहा कि इंदौर, उज्जैन जैसे अत्यधिक संक्रमण वाले क्षेत्रों में फिलहाल खरीदी बाधित रह सकती है। 
लक्ष्य से आगे निकल गए हमारे कार्यकर्ताः विष्णुदत्त शर्मा
पार्टी पदाधिकारियों, जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि इस संकट के समय में हमारा संगठन और सरकार गंभीरता से काम कर रहे हैं। हमारे कार्यकर्ता जान जोखिम में डालकर इस लड़ाई को लड़ रहे हैं,  ये गर्व की बात है। मैं सभी का आभार व्यक्त करता हूं। श्री शर्मा ने कहा कि इस कठिन समय में हमारे कार्यकर्ता कितने उत्साह से काम कर रहे हैं, इसका अंदाज इस तथ्य से लगाया जा सकता है कि हमें 45 लाख लोगों तक भोजन के पैकेट पहुंचाने का लक्ष्य मिला था, लेकिन हम  68 लाख लोगों तक पहुंच चुके हैं। अब तक 5 लाख से ऊपर मास्क बांटे जा चुके हैं। श्री शर्मा ने आह्वान किया कि पार्टी जन केंद्रीय नेतृत्व द्वारा किए गए आह्वान पर काम करते हुए पीएम केअर फंड में दान देने के लिए लोगों को प्रेरित करें और इस आह्वान को संगठन के निचले स्तर तक ले जाएं। इसके साथ ही कोरोना से युद्ध लड़ रहे योद्धाओं का आभार जताने में कोताही न बरतें। प्रदेष अध्यक्ष ने सरकार के ताबडतोड प्रयासों के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की भूरि भूरि प्रषंसा की। उन्हांने मुख्यमंत्री जी से आसन्न पेयजल संकट के संबंध में भी चर्चा की। 
सोचिए अपनी सरकार न होती तो हालात कितने भयावह होते : सुहास भगत
प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत ने कहा कि अपनी सरकार कठिन समय में आयी है, लेकिन यह मध्यप्रदेश का सौभाग्य है कि इस कठिन समय में भाजपा की सरकार है। हमें विश्वास है हम सारी कठिनाईयां पार करेंगे। लेकिन यह सोचने की बात है कि इस समय अगर हमारी सरकार नहीं होती तो मध्यप्रदेश के हालात कितने भयावह होते। इस समय प्रदेश अध्यक्ष के निर्देश पर पूरे प्रदेश में संगठन अपने स्तर पर व्यापक रूप से जुटा हुआ है। राष्ट्रीय अध्यक्ष जी के आग्रह का अक्षरश: पालन किया जा रहा है। चाहे वह राशन वितरण की बात हो, मास्क लगाने की बात हो या फिर कोरोना से युद्ध लड रहे लोगों को धन्यवाद देने की बात हो। उन्होंने सभी से आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी की नजर कोरोना के उपचार पर है। किसानों की सफल पर है और कोई भी भूखा न रहे इस पर भी है, यह उनकी गहरी संवेदना का परिचायक है।
ऑडियो ब्रिज के दौरान अनेक सांसदों, विधायकों और जिलाध्यक्षों ने मुख्यमंत्री को महत्वपूर्ण सुझाव दिए, जिनमें से अनेक सुझावां पर मुख्यमंत्री ने तुरंत अमल करने का भरोसा दिलाया। साथ ही अच्छे सुझाव देने वाले जनप्रतिनिधियों और संगठन कार्यकर्ताओं को धन्यवाद भी दिया। 

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0