23-Jul-2019

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

महापौर शर्मा द्वारा प्रस्तुत बजट को आंशिक संशोधनों के साथ निगम परिषद ने बहुमत से किया पारित

Previous
Next

नगर निगम का वर्ष 2019-20 का बजट बहुमत से पारित
निगम के नये लोगो को लेकर हुआ विरोध


भोपाल, 26 जून 2019,नगर पालिक निगम भोपाल के 12 मार्च 2019 के स्थगित सम्मिलन की पुनः आहूत बैठक में महापौर आलोक शर्मा द्वारा वर्ष 2019-20 के लिए 2976 करोड़ 76 लाख 96 हजार रुपये की अनुमानित आय तथा 2976 करोड़ 76 लाख 96 हजार रुपये के अनुमानित व्यय के प्रस्तावित बजट एवं वर्ष 2018-19 का पुनरीक्षित बजट सदन के समक्ष विचारार्थ प्रस्तुत किया जिसे आंशिक संशोधनों के साथ बहुमत के आधार पर पारित करने की घोषणा परिषद अध्यक्ष डाॅ. सुरजीत सिंह चैहान ने आसंदी से की। बैठक में भोपाल नगर निगम के नये लोगो को लेकर विपक्ष के सदस्‍यों ने विरोध किया। अन्‍य मुददों खासकर शहर में श्‍वानों के शिकार नागरिकों को लेकर चिंता जताई गयी। साथ ही आवारा श्‍वानाें को पकड़नें और नसबंदी की पुख्‍ता व्‍यवस्‍था नहीं किये जाने को लेकर विपक्ष ने परिषद को घेरा।

इससे पूर्व परिषद के स्थगित सम्मिलन की कार्यसूची में सम्मिलित विषय दिनांक 08 जनवरी 2019 स्थगित बैठक 25 जनवरी 2019 के कार्यवृत्त एवं कार्यवाही की पुष्टी की गई एवं प्रश्नकाल के दौरान सदस्यों के प्रश्नों के उत्तर महापौर परिषद के सदस्यों द्वारा दिए गए।
    निगम परिषद अध्यक्ष डाॅ. सुरजीत सिंह चैहान की अध्यक्षता में बुधवार को सम्पन्न हुए निगम परिषद के गत 12 मार्च 2019 के स्थगित सम्मिलन की पुनः आहुत बैठक में महापौर श्री आलोक शर्मा द्वारा वर्ष 2019-20 के लिए 2976 करोड़ 76 लाख 96 हजार रुपये की अनुमानित आय एवं 2976 करोड़ 76 लाख 96 हजार रुपये व्यय तथा सुरक्षा निधि के रूप में आय की 5 प्रतिशत राशि 65 करोड 71 लाख 22 हजार रुपये रखने पर बजट घाटा (-) 65 करोड 71 लाख 22 हजार रुपये का बजट परिषद के विचारार्थ प्रस्तुत किया गया।
    महापौर श्री आलोक शर्मा ने वर्तमान परिषद का अपना पांचवा एवं अंतिम बजट प्रस्तुत करते हुए शहर के हर वार्ड में जनसुविधा एवं विकास कार्यों की निरंतरता के दृष्टिगत इसे विकासशील बजट एवं भोपाल शहर के क्षेत्रफल और आबादी में वृद्धि के मान से नगर सरकार का बहुत छोटा बजट बताया और निगम की वित्तीय नियंत्रण के लिए कुछ कड़े कदम उठाने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि निगम परिषद के हम सब सदस्यों का यह नैतिक दायित्व है कि नगर निगम की वित्तीय स्थिति को सुधारे। महापौर श्री शर्मा ने कहा कि वित्तीय स्थिति को मजबूत करने की दिशा में ई-फाईलिंग और ई-गवर्नेंस की तरफ कदम आगे बढ़ाये है। श्री शर्मा ने स्वच्छ भारत के सपने को साकार करने के लिए देश के शहरों के बीच स्वच्छता के प्रतियोगिता स्वच्छ सर्वेक्षण के रूप में प्रारंभ करने पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि भोपाल शहर ने स्वच्छता की दिशा में लगातार बेहतर प्रदर्शन किया है और गत वर्षों में हमने अपनी स्वच्छता की रैंकिंग में सुधार किया और इस वर्ष भी हम देश की स्वच्छतम राजधानी के रूप में सम्मानित हुए है। उन्होंने स्वच्छतम राजधानी का खिताब प्राप्त करने का श्रेय शहर की जनता-जनार्दन के साथ ही नगर निगम के अधिकारियों/कर्मचारियों एवं स्वच्छता सेवकों के कड़े परिश्रम को देते हुए कहा कि वर्ष 2020 के स्वच्छता सर्वेक्षण में हम पिछली कमियों, खामियों को दूर करते हुए और अधिक तन्मयता से प्रयास करेंगे। श्री शर्मा ने कहा कि स्वच्छता सेवकों की कार्य क्षमता एवं मनोबल को बढ़ाने के दृष्टिगत स्वास्थ्य पर्यवेक्षकों (दरोगाओं) को मोटरसाईकिल देने एवं गत स्वच्छ सर्वेक्षण में उत्कृष्ट कार्य करने वाले प्रत्येक सफाईकर्मी को 6000 रुपये पुरस्कार स्वरूप अतिरिक्त राशि प्रदान करने की घोषणा की साथ निगम चिकित्सालय में निगमकर्मियों की सुविधा के दृष्टिगत आयुर्वेदिक एवं होम्योपैथिक चिकित्सक की व्यवस्था करने, स्मार्ट सिटी के अंतर्गत बनने वाले शासकीय आवासों में निगमकर्मियों के लिए 10 प्रतिशत आवास आरक्षित करने, वार्ड नियोजन राशि 25 लाख रुपये से बढ़ाकर 35 लाख रुपये करने, भोपाल शहर को सौलर सिटी बनाने की दिशा में आगे बढ़ने एवं विद्युत व्यय को कम करने हेतु ऊर्जा विकास निगम के सहयोग से निगम के 05 फिल्टर प्लांटों पर प्रथम चरण में सौलर पेनल लगाने, समशान घाटों में विद्युत शव दाहगृह बनाने, निगम सीमा के अंतर्गत किसी भी अस्पताल नर्सिंग होम से पार्थिव शरीर घर ले जाने एवं अंतिम क्रिया हेतु विश्रामघाट ले जाने के लिए शांति वाहन की सेवा को निःशुल्क करने, अवैध निर्माणों को नियमित करने हेतु वर्तमान सीमा 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 45 प्रतिशत किए जाने, निजी एवं शासकीय संस्थाओं की सम्पूर्ण विकास वाली कालोनियों को तत्काल निगम को हस्तांतरित करने एवं भोपाल नगर निगम के वर्तमान प्रतीक चिन्ह को बदलकर राजा भोज प्रतीक चिन्ह करने की घोषणा की।
    महापौर श्री आलोक शर्मा ने शहर के नागरिकों की सुविधा एवं शहर के विकास तथा निगम कर्मचारियों को लाभान्वित करने के दृष्टिगत निगम में 25 दिवसीय श्रमिकों के रूप में 10 वर्ष की सेवा पूर्ण करने वाले कर्मचारियों को विनियमित करने हेतु प्रस्ताव शासन को भेजने, प्राईवेट कालोनियों में नागरिकों की मांग के दृष्टिगत बल्क कनेक्शन के स्थान पर व्यक्तिगत नल कनेक्शन देने की नीति पर पुनर्विचार कर इसमें परिवर्तन करने हेतु प्रस्ताव शासन को भेजने एवं व्यक्तिगत नल कनेक्शन देने हेतु आने वाले व्यय के लिए लगभग 600 करोड़ रुपये की राशि निगम को उपलब्ध कराने की शासन से मांग संबंधी प्रस्ताव पारित करने का उल्लेख भी अपने बजट भाषण में किया साथ ही विद्युत नियामक आयोग की तर्ज पर जल नियामक आयोग बनाने की मांग भी शासन से की। महापौर श्री आलोक शर्मा ने मनुआभान की टेकरी पर भारत माता परिसर हेतु 14 एकड़ से अधिक भूमि आवंटन करने पर पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान के प्रति आभार व्यक्त करते हुए वर्ष 2019-20 के बजट में 25 करोड़ रुपये का प्रावधान करने, प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में विकास हेतु 3-3 करोड़ रुपये का प्रावधान प्रस्तावित बजट में करने का उल्लेख किया। महापौर श्री शर्मा ने कहा कि लगातार गिरते हुए भूजल स्तर में सुधार हेतु आने वाले समय में निर्मित होने वाले भवनों पर रूफ वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम अनिवार्य रूप से लगाने एवं इस हेतु जनजागरूकता अभियान चलाने एवं इस पर कढ़ाई से पालन कराने की जानकारी भी सदन को दी। महापौर श्री शर्मा ने स्मार्ट सिटी अमृत योजना, हाउसिंग फाॅर आॅल जैसी शहर विकास और जनसुविधा की वृहद योजनाओं का लाभ भोपाल शहर को दिलाने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, शहरी विकास मंत्री श्री हरदीप सिंह पूरी, पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान के प्रति आभार एवं कृतज्ञता भी बजट भाषण में व्यक्त की एवं इन योजनाओं के अंतर्गत चल रही परियोजनाओं की अद्यतन जानकारी भी सदन को दी। महापौर श्री आलोक शर्मा द्वारा प्रस्तुत बजट पर नेता प्रतिपक्ष श्री मो.सगीर सहित पक्ष-विपक्ष के सदस्यों ने व्यापक रूप से विचार-विमर्श किया। पक्ष-विपक्ष के अनेक पार्षदों ने प्रस्तावित बजट में संशोधन करने का अनुरोध भी अध्यक्ष डाॅ. चैहान से किया।
    निगम परिषद अध्यक्ष डाॅ. सुरजीत सिंह चैहान ने पुनरीक्षित बजट वर्ष 2018-19 एवं वर्ष 2019-20 के लिए प्रस्तावित बजट को सदन के सदस्यों द्वारा दिए गए सुझावों के दृष्टिगत बजट में आंशिक संशोधन करते हुए बजट को बहुमत के आधार पर पारित करने की घोषणा आसंदी से की साथ ही महापौर श्री आलोक शर्मा द्वारा बजट भाषण के दौरान रखे गए प्रस्तावों को भी पारित करने की घोषणा की और इन प्रस्तावों में से शासन की ओर भेजे जाने वाले प्रस्तावों को तत्काल प्रेषित करने की कार्यवाही करने एवं निगम के सभी दस्तावेजों, भवनों के बोर्ड्स पर नया मोनो अंकित करने एवं आई.एस.बी.टी. स्थित निगम कार्यालय के समक्ष लगी प्रतिमाओं के स्थान पर राजा भोज की प्रतिमायुक्त नया प्रतीक चिन्ह स्थापित करने के निर्देश भी आसंदी से दिए।
    सम्मिलन के अंत में पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान के पिताश्री स्व. प्रेम सिंह चैहान, विधायक श्री विष्णु खत्री की माताश्री एवं निगम परिषद की पूर्व सदस्या श्रीमती अर्चना पाण्डे के असमायिक निधन पर दो मिनिट का मौन धारण कर मृत आत्माओं के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0