23-Jul-2019

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

भाजपा सरकार में चमगादड़ से बिजली गुल का पर्दाफाश: अभय दुबे

Previous
Next


भोपाल, 11 जुलाई 2019
प्रदेश कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष अभय दुबे और प्रदेश कांगे्रस के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने संयुक्त रूप से बताया है कि यह बेदह दुर्भाग्यपूर्ण है कि आज जब प्रदेश के ऊर्जा मंत्री ने तथ्यात्मक रूप से इस बात को सदन में रखा कि चमगादड़ की बजह से लाईट (ट्रिपिंग) जाती है तो नेता प्रतिपक्ष ने उपहास उड़ाया और कहा कि यह संभव नहीं है।
मध्यप्रदेश कांगे्रस कमेटी प्रामाणिक दस्तावेजों के साथ यह सिद्ध कर रही है कि भाजपा सरकार के दौरान कमलापार्क क्षेत्र में एक माह में ही अर्थात 10 मई 2018 से 30 मई 2018 तक अकेले कमलापार्क क्षेत्र में 35 बार रात 12 बजे से अपरान्ह 4 बजे तक की अवधि में ट्रिपिंग हुई है। इतना ही नहीं सुपरवाईजरी कंट्रोल एंड डेटा एक्विजीशन की इंदौर, भोपाल और जबलपुर की वृत की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि 5 मिनिट से लेकर एक घंटे तक विद्युत आपूर्ति भाजपा शासनकाल में अधिक बाधित होती थी।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रदेश कांगे्रस कार्यालय पहुंचे, कांगे्रसजनों से मिले

पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया आज अपने निर्धारित दौरा कार्य के अनुसार सुबह 11 बजे भोपाल पहुंचे। वे विधानसभा कार्यवाही देखने पहुंचे। उन्होंने वहां पर मीडिया से चर्चा की, तत्पश्चात मुख्यमंत्री कमलनाथ के निवास पर पहुंचे।
सिंधिया दोपहर में प्रदेश कांगे्रस कार्यालय पहुंचे जहां प्रदेश कांगे्रस के उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर, प्रकाश जैन, महामंत्री राजीव सिंह, मीडिया अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा, मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा, मीडिया उपाध्यक्ष अभय दुबे और भूपेन्द्र गुप्ता, प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी, आदि ने सूत की माला पहनाकर उनका स्वागत किया। सिंधिया ने प्रदेश कांगे्रस कार्यालय में कांगे्रस के सभी वरिष्ठ नेताओं, कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर चर्चा की। इसके बाद वे वरिष्ठ नेता सरताजसिंह का स्वास्थ्य हाल जानने नेशनल हाॅस्पिटल पहुंचे। सिंधिया स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट और मनोज माथुर के निवास पर भी सौजन्य भेंट करने पहुंचे। इस दौरान वे इंडियन काफी हाउस भी गये। उनका रात्रि विश्राम होटल नूर-उस-सबाह में रहेगा। सिंधिया शुक्रवार को सुबह 8 बजे भोपाल से रवाना होकर सुबह 9.25 बजे दिल्ली पहुंचेंगे।
इस अवसर पर प्रदेश कांगे्रस कार्यालय में प्रवक्तागण जे.पी. धनोपिया, रवि सक्सेना, दुर्गेश शर्मा, स्वदेश शर्मा, संतोष सिंह गोतम, अब्बास हासमी, अजयसिंह यादव, शाहवर आलम, गिरीश शर्मा, युवा नेता कृष्णा घाड़गे सहित बड़ी संख्या में कांगे्रस पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

विधानसभा की बैठकें 20 एवं 21 जुलाई को भी आयोजित होंगी

मध्यप्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने आज जारी एक बयान में प्रदेश की कमलनाथ सरकार के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश विधानसभा की कार्यमंत्रणा समिति की 8 जुलाई 2019 को संपन्न हुई बैठक की सिफारिशों को 9 जुलाई 2019 को सदन ने मंजूरी प्रदान की, जिसमें कमलनाथ सरकार का वह ऐतिहासिक निर्णय भी शामिल है, जिसमें छुट्टी के दिनों में भी जनहित का ध्यान रखते हुए विधानसभा की बैठकें आयोजित करने का फैसला लिया गया है।
श्रीमती ओझा ने कहा कि सदन ने कार्यमंत्रणा समिति की सिफारिश को मंजूरी प्रदान करते हुए निर्णय लिया कि विधानसभा की जो बैठकें 15 एवं 16 जुलाई 2019 को होना निर्धारित की गई थीं, वे बैठकें अब शनिवार 20 जुलाई और रविवार 21 जुलाई 2019 को संपन्न होंगी। यह कमलनाथ सरकार का ऐतिहासिक फैसला है। इस निर्णय से यह भी साफ हो गया है कि कमलनाथ सरकार विधानसभा का सत्र चलाने व संवाद के साथ-साथ सकारात्मक और रचनात्मक सुझावों का चर्चा के जरिये न केवल स्वागत करती है, बल्कि संवाद के लिए अवसर भी प्रदान करती है।
श्रीमती ओझा ने कहा कि कांग्रेस ही वह पार्टी है, जो छुट्टी के दिन विधानसभा का सत्र चलाने का कार्य करने की मंशा रखती आई है। यहां यह उल्लेखनीय है कि अप्रैल 1982 में जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी, उस समय भी छुट्टी के दिन विधानसभा की बैठक हुई थी और उसमें जनहित के कार्यों पर चर्चा के साथ ही महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये थे।
श्रीमती ओझा ने कहा कि जनहित को लेकर कांग्रेस पार्टी की पवित्र मंशा को दर्शाने वाले इस जनहितैषी निर्णय के ठीक उलट, पूर्ववर्ती भाजपा सरकार सदन को चलाने में विश्वास नहीं रखती थी, तभी तो प्रदेश की जनता ने, उन्हें प्रतिपक्ष की भूमिका में पहुंचा दिया है और कांग्रेस पार्टी को माननीय कमलनाथ जी के नेतृत्व में सत्तापक्ष की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी है।
श्रीमती ओझा ने कहा कि कांग्रेस सरकार का यह निर्णय संसदीय पद्धति और प्रक्रिया के अंतर्गत लिया गया है। यह कार्य जहां संसदीय परंपरा और नियमों को नई ऊंचाई प्रदान करेगा, वहीं यह लोकतंत्र की मजबूती के लिए लिया गया एक सुखद फैसला भी है।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0