26-Mar-2019

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

5 नेगेट‍िव कैलोरी फ्रूट्स जो ब्रेकफास्ट में लेने से करेंगे मोटापा दूर और वजन कम

Previous
Next
नकारात्मक कैलोरी खाद्य पदार्थों या नेगेटिव कैलोरी फूड (Negative calorie foods) ने स्वास्थ्य और पोषण की दुनिया में हाल के द‍िनों में बहुत ध्यान खींचा. नकारात्मक कैलोरी या नेगेटिव कैलोरी फूड (negative calories) ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो कैलोरी में बहुत ही कम हैं और इन्हें वजन कम करने के लि‍ए क‍िसी क‍िसी भी डाइट (weight loss diet) में शामि‍ल क‍िया जा सकता है. अक्सर लोग यह पूछते हैं क‍ि क्या नेगेटि‍व कैलोरी आहार सचमुच होते हैं (Are negative calorie foods real)? तो इस बात का जवाब हम आपको देते हैं. इसका जवाब है जी हां, नेगेटि‍व कैलोरी आहार होते हैं. तो अब अगर आपसे कोई पूछे क‍ि क्या नेगेटि‍व कैलोरी आहार जैसी कोई चीज वाकई है (Do negative calorie foods really exist) तो उन्हें हां में जवाब दें. इसके ल‍िए तथ्य देने का काम हम करते हैं. लेकिन कैसे, आपका यही सवाल होगा? तो हम देते हैं आपको इसका जवाब. असल में नेगेटि‍व कैलोरी फूड (Low calorie foods) ऐसा इसलिए है क्योंकि इन खाद्य पदार्थों को पचाने और चयापचय करने से स्वाभाविक रूप से अधिक कैलोरी / ऊर्जा प्राप्त होती है. इसके अलावा ये कैलोरी उच्च पोषण मूल्य के हैं. नकारात्मक कैलोरी खाद्य सिद्धांत के अनुसार, आप इन खाद्य पदार्थों में से कई खा सकते हैं और कभी भी वजन नहीं बढ़ा सकते हैं. लेकिन हम सभी जानते हैं कि इसकी संभावना कम है, क्योंकि किसी भी चीज की अधिकता आपके वजन घटाने की यात्रा के लिए अच्छा नहीं है. हालांकि, इन खाद्य पदार्थों को अपने दैनिक आहार में शामिल करने से फैट बर्न करने में बेहद अहम मदद मिल सकती है. अगर आप नेगेट‍िव कैलोरी फूड की ल‍िस्ट (Negative calorie food list) खोज रहे हैं, तो हम करते हैं आपकी मदद. इन्हें आप लो कैलोरी फूड्स भी कह सकते हैं. इन खाद्य पदार्थों के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि आपको इन्हें खोजने के लिए बहुत दूर जाने की जरूरत नहीं है. जी हां, नेगेट‍िव कैलोरी फूड हमारे सामान्य से सब्जी बाजार में भी उपलब्ध हैं. असल में मौसमी फलों, सब्जियों और साग ही आपकी नेगेट‍िव कैलोरी फूड की ल‍िस्ट में सबसे ऊपर हैं. Negative calorie foods: हाल में फूडी होते हुए भी हेल्थ कॉन्शियस लोगों के बीच जिस एक शब्द ने खूब चर्चा बटोरी वह है नेगेटिव कैलोरी फूड. अक्सर उन लोगों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है जो दिल से तो बहुत फूडी हैं लेकिन साथ ही साथ उन्हें अपनी सेहत की भी परवाह है और अपने आहार को सही और प्लान कर खाते हैं. दरअसल, नेगेटिव कैलोरी फूड की थ्योरी कहती है कि इसमें बताए गए आहार को आप चाहे जितना खाओ इससे वजन में बढ़ोतरी नहीं होगी. क्योंकि इन्हें खाने के बाद पचाने में ही काफी मात्रा में कैलोरी बर्न हो जाती है. इस बात का यह मतलब नहीं है कि इस खाने में कैलोरी नहीं होती, लेकिन फेक्ट यह है कि जब आप इन्हें खाते हैं तो आपका शरीर और ज्यादा कैलोरी बर्न करने लगता है; बंगलौर बेस्ड जानी मानी न्यूट्रिशनिस्ट डॉक्टर अंजु सूद के अनुसार '' हम कैलोरी को दो तरह से अलग-अलग करते हैं. एक एम्पटी कैलोरी (Empty calories) और दूसरी नेगेटिव कैलोरी (Negative calories). एम्पटी कैलोरी वह होती हैं जो खाने के बाद और अधिक मात्रा में कैलोरी बनाती हैं. और दूसरी तरह की नेगेटिव कैलोरी (Negative calories) वे होती हैं जो उस आहार में होती हैं जो लॉ कैलोरी वाली होती हैं. ''कम कैलोरी वाले खाद्य पदार्थ, अधिक कैलोरी चार्ट, कम कैलोरी वाले अनाज, अधिक कैलोरी वाला भोजन, अधिक कैलोरी वाले खाद्य पदार्थ, भारतीय कैलोरी चार्ट, हाई कैलोरी फूड्स फॉर प्रेगनेंसी, कम कैलोरी आहार चार्ट'' अगर आप भी अक्सर ये सर्च करते रहते हैं तो यह लेख आपके बहुत काम का साबि‍त होने वाला है. चलि‍ए एक नजर में समझते हैं क‍ि क‍िस तरह वजन कम करने में मददगार है नेगेट‍िव कैलोरी फूड.

ऐसे 5 नेगेट‍िव कैलोरी फल जो आप ब्रेकफास्ट में शाम‍िल कर सकते हैं - 5 negative calorie fruits that you can add to your breakfast.

सबसे पहले जान लें क‍ि मोटापा क्या है (What Is Obesity or Obesity Definition): ओबेसिटी या मोटापा ऐसी स्थिति है, जिसमें व्यक्ति का वजन इतना ज्यादा हो जाता है कि इसका बुरा असर उसकी सेहत पर पड़ने लगता है. जब व्यक्ति जरूरत से ज्यादा कैलरी का सेवन करता है तो यह अतिरिक्त कैलरी फैट के रूप में शरीर में जमा होने लगती है. नोएडा स्थित जेपी हॉस्पिटल में बैरिएट्रिक काउंसलर एवं न्यूट्रीशनिस्ट श्रुति शर्मा का कहना है कि ओबेसिटी का निदान मरीज की शारीरिक जांच एवं उसके इतिहास के आधार पर किया जाता है. मोटापे के कारण बीमारियों के संभावना की जांच के लिए व्यक्ति के बीएमआई (बॉडी मास इंडेस्क) का मापन किया जाता है.

1. मोटापा दूर करने के लि‍ए डाइट में शाम‍िल करें नेगेट‍िव कैलोरी वाला फल सेब (Apples)

जी हां, आपने वह कहावत तो सुनी ही होगी, रोजाना एक सेब आपको डॉक्टर और दवाओं से बचा सकता है. असल में सेब पेक्टिन से भरपूर होता है, जो एक तरह का घुलनशील फाइबर होता है. यह आपके पेट को भरा होने का अहसास कराता है और रक्त प्रवाह यानी ब्लड स्ट्र‍िम में शर्करा यानी शुगर की धीमी गति को भी सुनिश्चित करता है. अगर आपका पेट भरा रहता है तो आप फालतू और अनहेल्दी खाना खाने से बचे रहते हैं.

2. वजन कम करने के लि‍ए डाइट में शाम‍िल करें बैरीज (Berries)

खट्टी मीठी बैरी क‍िसे पसंद नहीं. सबसे अच्छी बात तो यह क‍ि ये लो कैलोरी फल होते हैं, जो वजन कम करने में भी मददगार हैं. क्या आप जानते हैं क‍ि आधा कम रसबैरी, ब्लूबेरी या स्ट्रॉबेरी में महज 32 कैलोरी होती है. इसके अलावा अच्छी बात यह है क‍ि बैरीज में एंटीऑक्स‍ीडेंट भरपूर मात्रा में होते हैं, जो आपके द‍िल की सेहत के लि‍ए अच्छे हैं. आप बैरीज को स्मूदी बना कर या सलाद में चाहे जैसे ले सकते हैं.

3. मोटापा दूर करने में मदद करेगा तरबूज (Watermelons)

क्या आप इस बात पर यकीन करेंगे क‍ि तरबूत में 95 फीसदी पानी होता है... जी हां, यह स्वाद‍िष्ट फल कैलोरी के मामले में भी शानदार है. यूएसडीए के मुताब‍िक 100 ग्राम तरबूज में महज 30 कैलोर होती हैं जो इसे वजन कम करने या मोटापा दूर करने के ल‍िए परफेक्ट बनाती हैं. तरबूज आपकी वेट लॉस डाइट (weight loss diet) में शामि‍ल क‍िया जाने वाला बेहद स्वाद‍िष्ट फल साब‍ित होगा.

4. नींबू कम करेगा मोटापा और घटाएगा वजन (Lemon)
यूएसडीए के मुताब‍िक 100 ग्राम नींबू में स‍िर्फ 29 कैलोरी होती हैं. तो जरा सोच‍िए वि‍टाम‍िन सी से भरपूर यह आहार आपके वजन को कम करने में कि‍तना चमत्कारी साबि‍त हो सकता है. आप नींबू जूस पी सकते हैं या इसे सलाद के साथ भी ले सकते हैं.

5. वजन कम करने और बैली फैट घटाने के लि‍ए खाएं ग्रेमफ्रूट (Grapefruit)
यूएसडीए के मुताब‍िक इस 100 ग्राम ट्रॉप‍िकल फ्रूट में 40 कैलोरी होती हैं. यह एंटीऑक्स‍ीडेंट से भरपूर होता है और व‍िटामि‍न व मि‍नरल्स की भी इसमें भरमार है.


साभार- एनडीटीवी खबर

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0